कृषि विभाग,

उत्तर प्रदेश

पारदर्शी किसान सेवा योजना,

किसान का अधिकार किसान के द्वार

उत्तर प्रदेश

वर्ष 2016-17 में भूमि संरक्षण मद के अन्तर्गत विभिन्न कार्यक्रम/योजनाएं संचालित की जा रही हैं जो मुख्यतः इस प्रकार हैं:-

भूमि सेना योजना

  • 10वीं/11वीं पंचवर्षीय योजना के अन्तर्गत संचालित यह योजना भूमि सुधार एवं रोजगार सृजन में अत्यधिक उपयोगी सिद्ध हुई थी। वर्तमान सरकार के प्राथमिकताओं के क्रम में इसे स्टेट फ्लैगशिप प्रोग्राम के रूप में संचालित किया जा रहा है ।
  • भविष्य की चुनौतियों एवं घटते जल स्रोत को दृष्टिगत रखते हुए भूमि एवं जल संरक्षण के अन्तर्गत नाबार्ड वित्त पोषित आर0आई0डी0एफ0 योजनान्तर्गत कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं।
  • प्रदेश के मृदा स्वास्थ्य को सुदृढ़ बनाये रखने हेतु मृदा स्वास्थ्य का सुदृढ़ीकरण योजना, मृदा में सूक्ष्म तत्वों की कमी को दूर करने एवं भूमि सुधार हेतु जिप्सम के वितरण की योजना एवं जैव उर्वरक उत्पादन प्रयोगशालाओं के सुदृढ़ीकरण/जैव उर्वरकों के प्रयोग को प्रोत्साहित करने का कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है।

नई योजनायें

  • जनपद हमीरपुर में जैविक खेती के विकास की योजना :- पर्यावरण संतुलन बनाये रखते हुए कम लागत वाली कृषि तकनीक अपनाकर रासायनिक उर्वरक एवं कीटनाशक से मुक्त जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए जनपद हमीरपुर को जैविक खेती हेतु माडल जिले के रूप में विकसित किये जाने के लिए वित्तीय वर्ष 2016-17 में रू0 10 करोड़ की व्यवस्था की गयी है।
  • कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, मेरठ :- कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, मेरठ के मुख्य परिसर में 33/11 के0वी0 विद्युत सबस्टेशन, 11/24 के0वी एवं वाहय विद्युतीकरण सम्बन्धी कार्य हेतु वित्तीय वर्ष 2016-17 में रू0 2.73 करोड़ की व्यवस्था की गयी है।

कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फैजाबाद

कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फैजाबाद के अन्तर्गत स्थापित पशु चिकित्सा एवं पशुपालन महाविद्यालय में आवश्यक सुविधाओं के विकास हेतु वित्तीय वर्ष 2016-17 में रू0 3.50 करोड़ की व्यवस्था की गयी है।

  • कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फैजाबाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फैजाबाद, के मुख्य परिसर में 33/11 के0वी0 विद्युत सब स्टेशन में अतिरिक्त ट्रान्सफार्मर की स्थापना हेतु वित्तीय वर्ष 2016-17 में रू0 1.50 करोड़ की व्यवस्था की गयी है।
  • कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, बांदा में टाइप-3 आवासों का निर्माण कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, बांदा में कर्मचारियों को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराये जाने हेतु वित्तीय वर्ष 2016-17 में रू0 2.00 करोड़ की व्यवस्था की गयी है।

जनपद बहराइच में “किसान बाजार” की स्थापना

जनपद बहराइच में किसान बाजार की स्थापना के लिए कुष्ठ चिकित्सालय, बहराइच की 2.02 एकड़ भूमि, कृषि उत्पादन मण्डी समिति, बहराइच को निःशुल्क हस्तान्तरण हेतु वित्तीय वर्ष 2016-17 में रू0 1000 की प्रतिकात्मक व्यवस्था की गयी है।

  • बुन्देलखण्ड क्षेत्र की मण्डियों में तिल प्रसंस्करण इकाईयों की स्थापना :- बुन्देलखण्ड क्षेत्र की मण्डियों में उ0प्र0 मण्डी समिति द्वारा तिल प्रसंस्करण इकाईयों की स्थापना किये जाने हेतु वित्तीय वर्ष 2016-17 में रू0 15.00 करोड़ की व्यवस्था की गयी है।