कृषि विभाग,

उत्तर प्रदेश

पारदर्शी किसान सेवा योजना,

किसान का अधिकार किसान के द्वार

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजना वर्ष 2016-17

योजना का नाम - राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन
संक्षिप्त टिप्पणी

योजना वर्ष 2007-08 में माह अक्टूबर से प्रदेश में क्रियान्वित/ कार्यान्वित की गयी। योजना का मुख्य उद्देश्य क्षेत्रफल तथा उत्पादकता वृद्धि को टिकाऊ बनाते हुए उत्पादन में बृद्धि करना, भूमि की उर्वरता तथा उत्पादकता को बढ़ाना एवं कृषि प्रक्षेत्रों के स्तर पर लाभकारी परिदृश्य स्थापित करना है।

वर्तमान में योजना में कुल पांच घटक सम्मिलित हैं। चावल घटक में 23 जनपद, गेहूँ घटक में 31 जनपद, दलहन घटक में प्रदेश के समस्त 75 जनपद, कोर्स सीरियल में 20 जनपद एवं कामर्शियल क्रांप में 33 जनपद (जूट-5, कपास-4 एवं गन्ना 24 जनपद) आच्छादित हैं।

योजना में चयनित जनपद (वर्ष 2014-15 से)

चावल घटक - 23 जनपद

अलीगढ़, बरेली, बदायूं, मुरादाबाद, रामपुर, प्रतापगढ़, गाजीपुर, जौनपुर, मिर्जापुर, आजमगढ़, मऊ, बलिया, गोरखपुर, देवरिया, संतकबीर नगर, उन्नाव, रायबरेली, सीतापुर, हरदोई, अमेठी, बलरामपुर, बहराइच तथा श्रावस्ती।

दलहन घटक - समस्त 75 जनपद, उत्तर प्रदेश।

गेहूं घटक - 31 जनपद

हाथरस, इलाहाबाद, कौशाम्बी, प्रतापगढ़, झांसी, ललितपुर, हमीरपुर, महोबा, बांदा, चित्रकूट, वाराणसी, चन्दौली, गाजीपुर, जौनपुर, मिर्जापुर, सोनभद्र, आजमगढ़, मऊ, बलिया, गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, बस्ती, सन्तकबीरनगर, लखनऊ, फैजाबाद, अमेठी, गोण्डा, बलरामपुर, बहराइच, श्रावस्ती।

कोर्स सीरियल - 20 जनपद

बुलन्दशहर, बदायूँ, आगरा, फिरोजाबाद, मथुरा, मैनपुरी, अलीगढ़, हाथरस, एटा, कासगंज, फर्रूखाबाद, कन्नौज, इटावा, औरैया, कानपुरदेहात, ललितपुर, जालौन, हरदोई, गोण्डा, बहराइच।

कामर्शियल घटक - 33 जनपद (जूट-5, काटन-4 व गन्ना-24)

जूट - सीतापुर, लखीमपुरखीरी, बाराबंकी, बहराइच, श्रावस्ती।

कपास - आगरा, मथुरा, अलीगढ़, हाथरस

गन्ना - सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, मेरठ, बागपत, हापुड़, गाजियाबाद, बुलन्दशहर, मुरादाबाद, बिजनौर, अमरोहा, रामपुर, बरेली, पीलीभीत, शाहजहाँपुर, सीतापुर, लखीमपुर, हरदोई, बहराईच, गोण्डा, बलरामपुर, कुशीनगर, बस्ती, फैजाबाद