कृषि विभाग,

उत्तर प्रदेश

पारदर्शी किसान सेवा योजना,

किसान का अधिकार किसान के द्वार

गुणवत्ता नियन्त्रण

भाग-(क) उर्वरक गुण नियन्त्रण

कृषि उत्पादन में उर्वरक एक प्रमुख कृषि निवेश हैं। इसके महत्व के दृष्टिगत आवश्यक वस्तु अधिनियम-1955 के अन्तर्गत इसे आवश्यक वस्तु की श्रेणी में रखा गया है। प्रदेश में समस्त कृषकों को गुणवत्तायुक्त उर्वरक उपलब्ध हो सके, इस मन्तव्य से उर्वरक गुण नियन्त्रण कार्यक्रम का क्रियान्वयन सम्पूर्ण प्रदेश में किया जा रहा है। इसका अनुश्रवण उर्वरक(नियन्त्रण) आदेश-1985 में निहित प्राविधानों के अन्तर्गत किया जाता है, जिसमें निर्धारित मानक से भिन्न(अधोमानक/अमानक) उर्वरकों का विनिर्माण एवं विक्रय निषेध तथा दण्डनीय है।

उर्वरक गुण नियन्त्रण के उद्देश्य:-

  • किसानों को गुणवत्तायुक्त उर्वरक उपलब्ध कराना।
  • कृषि उत्पादन के वार्षिक लक्ष्यों की प्राप्ति में योगदान।
  • अमानक तथा अधोमानक उर्वरकों के विनिर्माण तथा विक्रय को प्रतिबन्धित करना।
  • अमानक पाये जाने पर फर्म तथा विक्रेताओं के विरूद्ध प्रभावी नियन्त्रण।
  • प्रभावी गुण नियन्त्रण हेतु उर्वरक विश्लेषण प्रयोगशालाओं का सुदृढ़ीकरण एवं आधुनिकीकरण करना तथा परिणाम प्रेषण आन लाइन करना।
  • वार्षिक नमूनों के ग्रहण के लक्ष्य निर्धारित करना तथा उनकी प्राप्ति हेतु आवश्यक कार्यवाही करना।

कार्यकलाप

उर्वरक की गुणवत्ता सुनिश्चित करने हेतु जनपद में उर्वरक निरीक्षकों द्वारा रबी में 60% तथा खरीफ में 40% नमूनों को लक्ष्यानुरूप ग्रहण कर प्रदेश की अधिसूचित प्रयोगशालाओं में विश्लेषण हेतु प्रेषित किया जाता है। प्रदेश की अधिसूचित प्रयोगशालायें, आलमबाग लखनऊ, वाराणसी, मेरठ तथा रहमानखेड़ा, लखनऊ में स्थापित है।

उर्वरक नियन्त्रण आदेश-1985 के अधिनियम के नियम-30 के अन्तर्गत नमूनों के ग्रहण, प्रेषण तथा विश्लेषण परिणाम की सूचना से सम्बन्धित आवश्यक कार्यवाही की जाती है। अधोमानक या अमानक पाये जाने पर अधिनियम के खण्ड-31 के तहत् संस्थानों/विक्रेताओं के खिलाफ विधिक कार्यवाही की जाती है।

एस०एस०पी०, एन० पी०के०, जिंक सल्फेट, सूक्ष्म पोषक मिश्रण, डी०ए०पी०, फेरस सल्फेट आदि के नमूने, जिनमें मिलावट की अधिक सम्भावना बनी रहती है, अधिक संख्या में ग्रहीत किये जाते हैं। यूरिया तथा एम०ओ०पी० के नमूने केवल गुणवत्ता संदिग्ध होने की दशा में ही (केवल 10% की सीमा तक) लिए जाने के निर्देश दिये गये हैं

उर्वरक नमूनों का प्रयोगशालावार लक्ष्य

क्र0सं0 प्रयोगशाला वर्ष 2015-16 हेतु वर्ष 2016-17 हेतु वर्ष 2017-18 हेतु
1 आलमबाग, लखनऊ 6788 5040 5040
2 वाराणसी 3211 3023 3023
3 मेरठ 3200 2987 2987
4 रहमानखेड़ा, लखनऊ 1621 950 950
5 क्षेत्रीय भूमि परीक्षण प्रयोगशालायें 180 -- --
योग 15000 12000 12000