कृषि विभाग,

उत्तर प्रदेश

पारदर्शी किसान सेवा योजना,

किसान का अधिकार किसान के द्वार

खेत तालाब योजना

वित्त पोषण - भारत सरकार (आर0के0वी0वाई)

योजना का उद्देश्य

  • कृषकों को जल के संरक्षण, समुचित प्रयोग हेतु प्रेरित करना।
  • वर्षा जल को संग्रहीत करके सिंचाई हेतु प्रयोग करना।
  • संचित जल का सुरक्षित उपयोग।
  • भूगर्भ जल स्तर में वृद्धि।

योजना का लक्ष्य एवं कार्य क्षेत्र

  • प्रथम फेज- बुन्देलखण्ड के 7 जनपदों के समस्त विकासखण्ड में रू० 12.20 करोड़ के व्यय पर 2000 तालाब का निर्माण।
  • द्वितीय फेज- बुन्देलखण्ड क्षेत्र सहित प्रदेश के 44 जनपदों के 167 अतिदोहित व क्रिटिकल श्रेणी के चिन्हित विकासखण्ड में रू० 27.88 करोड़ के व्यय पर 3384 तालाब का निर्माण।

तालाब का आकार

  • छोटे तालाब – (22×20×3 मी०) लागत/तालाब – रू० 105000
  • मध्यम तालाब- (35×30×3 मी०) लागत/तालाब-रू० 228400

अनुदान

50 प्रतिशत (अनुदान का भुगतान डी०बी०टी० द्वारा तीन किस्तों में)

लाभार्थी का चयन

  • अनुसूचित जाति/जनजाति, अल्पसंख्यक तथा लघु/सीमान्त कृषकों को प्राथमिकता (जिलाधिकारी के स्तर से अनुमोदित सूची के अनुसार)।
  • एक कृषक केवल एक ही तालाब के लाभ के लिए पात्र।
  • कृषक का आन लाइन रजिस्ट्रेशन तथा खेत तालाब का विकल्प होना अनिवार्य।

भौतिक वित्तीय प्रगति माह----------------तक (भौतिक सं० में, वित्तीय लाख रू० में)

क्र०सं० वर्ष स्वीकृत कार्य योजना आवंटित धनराशि प्रगति प्रतिशत
भौतिक वित्तीय भौतिक वित्तीय भौतिक वित्तीय
1 2017-18