कृषि विभाग,

उत्तर प्रदेश

पारदर्शी किसान सेवा योजना,

किसान का अधिकार किसान के द्वार

राई-सरसों के रोग

6-सफेद गेरूई

पहचान

रोकथाम

  • गर्मी में गहरी जुताई करनी चाहिए।
  • समय से बुवाई करें।
  • पौधों की बुवाई उचित दूरी पर करनी चाहिए।
  • अत्यधिक वनस्पतिक बढत से बचना चाहिए।
  • पानी का समुचित प्रबन्धन करना चाहिए।
  • भूमिशोधन हेतु ट्राइकोडरमा बिरडी 1.0 प्रतिशत डब्यू0पी0 अथवा ट्राइकोडरमा हारजेएनम 2.0 प्रतिशत डब्लू0पी0 2.5 किग्रा0 प्रति हे0 60-70 किग्रा0 सडी हुए गोबर की खाद में मिलाकर हल्के पानी का छिंटा देकर 8-10 दिन तक छाया में रखने के उपरान्त भूमि में मिला देना चाहिए।
  • बीजशोधन हेतु थीरम 75 प्रतिशत डब्लू0पी0 2.5 ग्राम प्रति किग्रा0 बीज अथवा मेटालैक्सिल 1.5 ग्राम प्रति किग्रा0 बीज की दर से बीज बीजशोधित कर बुवाई करना चाहिए।

रसायनिक नियंत्रण

रसायनिक नियंत्रण हेतु निम्नलिखित कीटनाशकों में से किसी एक का प्रयोग करना चाहिए।

  • मैंकोजेब 75 प्रतिशत डब्लू0पी0 2.0 किग्रा0 प्रति हे0 की दर 600-700 ली0 पानी में घोलकर छिडकाव करना चाहिए।
  • जिनेब 75 प्रतिशत डब्लू0पी0 की 2.0 किग्रा0 प्रति हे0 की दर से 600-700 ली0 पानी में घोलकर छिडकाव करना चाहिए।
  • जिरम 80 प्रतिशत डब्लू0पी0 की 2.0 किग्रा0 प्रति हे0 की दर से 600-700 ली0 पानी में घोलकर छिडकाव करना चाहिए।
  • कापर आक्सीक्लोराइड 50 प्रतिशत डब्लू0पी0 की 3.0 किग्रा0 मात्रा प्रति हे0 की दर से 600-700 ली0 पानी में घोलकर छिडकाव करना चाहिए।

7-तुलासिता रोग

पहचान

रोकथाम

  • गर्मी में गहरी जुताई करनी चाहिए।
  • समय से बुवाई करें।
  • पौधों की बुवाई उचित दूरी पर करनी चाहिए।
  • अत्यधिक वनस्पतिक बढत से बचना चाहिए।
  • पानी का समुचित प्रबन्धन करना चाहिए।
  • भूमिशोधन हेतु ट्राइकोडरमा बिरडी 1.0 प्रतिशत डब्यू0पी0 अथवा ट्राइकोडरमा हारजेएनम 2.0 प्रतिशत डब्लू0पी0 2.5 किग्रा0 प्रति हे0 60-70 किग्रा0 सडी हुए गोबर की खाद में मिलाकर हल्के पानी का छिंटा देकर 8-10 दिन तक छाया में रखने के उपरान्त भूमि में मिला देना चाहिए।
  • बीजशोधन हेतु थीरम 75 प्रतिशत डब्लू0पी0 2.5 ग्राम प्रति किग्रा0 बीज की दर से बीजशोधित कर बुवाई करना चाहिए।

रसायनिक नियंत्रण

  • रसायनिक नियंत्रण हेतु मैंकोजेब 75 प्रतिशत डब्लू0पी0 2.0 किग्रा0 प्रति हे0 की दर 600-700 ली0 पानी में घोलकर छिडकाव करना चाहिए।
  • जिनेब 75 प्रतिशत डब्लू0पी0 की 2.0 किग्रा0 प्रति हे0 की दर से 600-700 ली0 पानी में घोलकर छिडकाव करना चाहिए।
  • जिरम 80 प्रतिशत डब्लू0पी0 की 2.0 किग्रा0 प्रति हे0 की दर से 600-700 ली0 पानी में घोलकर छिडकाव करना चाहिए।
  • कापर आक्सीक्लोराइड 50 प्रतिशत डब्लू0पी0 की 3.0 किग्रा0 मात्रा प्रति हे0 की दर से 600-700 ली0 पानी में घोलकर छिडकाव करना चाहिए।